CTS meaning in hindi – जानिए CTS क्या है और इसका क्या महत्व है?

बैंकिंग जगत में फंड ट्रांसफर करने के लिए हमारे पास बहुत से तरीके है जिनमे से सबसे पुराना और प्रचलित तरीका है चेक द्वारा फंड ट्रांसफर करना। फंड ट्रांसफर के इस तरीके हम अपने दस्तखत किए चेक द्वारा बैंक को हमारे अकाउंट से किसी और अकाउंट में पैसे ट्रांसफर करने के लिए इंस्ट्रक्शन देते है। पैसे ट्रांसफर करनें का यह प्रोसेस पहले बहुत टाइम लेने वाला था और लापरवाही होने पर इसमें फ्रॉड की संभावना बहुत बढ़ जाती थी। इसी लिए चेक क्लियरिंग के प्रोसेस को और तेज और सिक्योर बनाने के लिए RBI द्वारा CTS सिस्टम को लागू किया गया। यह सिस्टम होता क्या है और कैसे काम करता है, इसी के बारे में हम आज के आर्टिकल “CTS meaning in hindi” में चर्चा करेंगे।

CTS meaning in hindi

CTS क्या है – CTS meaning in hindi

CTS का मतलब होता है: Cheque truncation System

CTS के तहत चेक क्लियरिंग के प्रोसेस में फिजिकल पेपर चेक की जगह चेक की डिजिटल इमेज का इस्तेमाल किया जाता है। CTS सिस्टम से पहले फंड ट्रांसफर के लिए फिजिकल चैक की कॉपी एक ब्रांच से दूसरी ब्रांच में भेजी जाती थी जिसके पहुंचने के बाद ही फंड ट्रांसफर का प्रोसेस आगे बढ़ पाता था। इस प्रोसेस में कई दिनों से कई हफ्ते तक का समय लग जाता था। लेकिन CTS आने के बाद इस सिस्टम में काफी सुधार हुआ। अब चेक की असल कॉपी को भेजने की बजाय सिर्फ उसकी डिजिटल इमेज जिसमे चेक से जुड़ी सभी जरूरी जानकारी जिसमे MICR, दस्तखत आदि शामिल होती है, को भेजा जाता है। इस तरह से चेक वेरिफिकेशन के प्रोसेस में बहुत कम समय लगता है और सिक्योरिटी में भी इजाफा हुआ है।

CTS को पहली बार भारत में एक पायलट प्रोजेक्ट के तरह 1 फरवरी 2008 को नई दिल्ली में लागू किया गया था और उसके बाद 2011 में चेन्नई में। इस सिस्टम के सभी पहलुओं के समझने के बाद इसे 1 अगस्त 2013 में पूरे देश में लागू कर दिया गया था।

CTS कैसे काम करता है – CTS kaise kaam karta hai

आपने कई बार देखा होगा की अब चेक द्वारा पेमेंट करने के लिए केवल CTS 2010 चेक का इस्तेमाल करने की सलाह दी जाती है। ऐसा इसलिए क्युकी इस तरह के चेक में कई सारी खूबियां है जो पेमेंट ट्रांसफर के प्रोसेस में सुधार करने में मदद करती है जैसे की इसमें बैंक का लोगो इनविब्सिबल इंक से प्रिंटेड होता है। चेक की पेपर की क्वालिटी एक सी और बढ़िया रखी जाती है और IFSC कोड चेक के टॉप पर प्रिंटेड होता है। इस चेक की प्रोसेसिंग भी पहले से अलग तरीके से को जाती है जिसमे निम्नलिखित स्टेप्स शामिल होते है:

  • कस्टमर द्वारा सबमिट किए गए चेक की बैंक ब्रांच द्वारा कलेक्शन की जाती है।
  • इसके बाद कलेक्टिंग बैंक द्वारा जमा किए गए चेक के सभी जरूरी डाटा को कैप्चर सिस्टम द्वारा स्कैन किया जाता है।
  • स्कैन और स्टोर किए गए डाटा को बैंक क्लियरिंग हाउस को भेजता है।
  • क्लियरिंग हाउस सभी डाटा को वेरिफाई करने के बाद उसे भुगतान करने वाले बैंक को भेजता है।
  • मिलने वाले सारे डाटा की भुगतानकर्ता बैंक द्वारा जांच की जाती है और वेरिफिकेशन होने के बाद पेमेंट की सेटलमेंट कर दी जाती है।

CTS की विशेषताएं – CTS ki visheshtaye

  • CTS में चेक का कोई भी फिजिकल ट्रांसफर नहीं होता इस लिए फंड की सेटलमेंट बहुत कम समय में हो पाती है।
  • ट्रांसपोर्टेशन का खर्चा बचने के कारण बैंक के मुनाफे में सुधार होता है।
  • CTS में डिजिटल प्रोसेस होने की कारण गलतियों की संभावना बहुत कम हो जाती है।
  • इस सिस्टम के कारण चेक से जुड़े फ्रॉड और गैरकानूनी कामों में कमी आती है।
  • कस्टमर सर्विस में सुधार और बैंकिंग सिस्टम पर अच्छा प्रभाव पढ़ता है।

CTS और नॉन CTS चेक में अंतर – CTS aur Non CTS cheque me antar

CTS  NON-CTS
CTS चेक के दांई तरफ कॉर्नर में CTS 2010 प्रिंटेड होता है। नॉन CTS चेक में ऐसा कुछ प्रिंटेड नही होता।
जब CTS चेक को स्कैन किया जाता है तो हम बैंक का वाटरमार्क देख पाते है। नॉन CTS चेक मे बैंक का कोई भी वाटरमार्क नही होता।
CTS चेक में रुपए के नए चिन्ह का इस्तेमाल किया जाता है। नॉन CTS चेक मे रुपए के पुराने चिन्ह का इस्तेमाल किया जाता है।
CTS चेक में साइन करने के लिए एक अलग से जगह दी गई होती है जहां पर please sign here प्रिंटेड होता है।  नॉन CTS चेक मे ऐसा कुछ प्रिंटेड नही होता।

यह भी जाने: MICR full form in hindi – जानिए MICR कोड क्या है और कैसे काम करता है

निष्कर्ष – Conclusion

CTS पेमेंट क्लियरिंग और फंड ट्रांसफर के प्रोसेस में एक अहम भूमिका निभाता है। फिजिकल चेक द्वारा फंड ट्रांसफर के प्रोसेस को और तेज और सिक्योर बनाने के लिए इसे RBI द्वारा लागू किया गया था और कारण पुराने चेक के इस्तेमाल करने पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई थी। अब हर बैंक में फंड ट्रांसफर के लिए सिर्फ CTS 2010 चेक का इस्तेमाल किया जाता है।

Liked our Content? Spread a word!

Leave a Comment