Gold ETF meaning in Hindi – गोल्ड ETF क्या है और इसमें क्यों करें इन्वेस्टमेंट

सोना, एक ऐसा धातु जिसमे हर कोई इन्वेस्ट करना चाहता है या फिर अपने पास खरीद कर रखना चाहता है। पुराने दिनों में सोने में इन्वेस्ट करने के लिए हमारे पास कुछ गिने चुने तरीके ही थे, जिनमे सबसे आम था सोने के गहने या सिक्के जिसे खरीद कर हम अपने घर में किसी सुरक्षित जगह या फिर बैंक के लॉकर में संभाल कर रखते थे।

समय के साथ साथ टेक्नोलॉजी में भी बदलाव आया, जिसके कारण हमारे पास कई और तरीके आए जिससे हम सोने में इन्वेस्ट कर सकते है, और वह भी बहुत कम अमाउंट में। ऐसे ही कुछ तरीको में है, सोवरेन गोल्ड बॉन्ड, डिजिटल गोल्ड और गोल्ड ETF आदि। आज के आर्टिकल ‘Gold ETF meaning in Hindi‘ के जरिए हम इन्हे में से एक तरीके, गोल्ड ETF के बारे में विस्तार से जानने की कोशिश करेंगे।

Gold ETF meaning in Hindi

गोल्ड ETF क्या है – Gold ETF meaning in Hindi

गोल्ड ETF यानी गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (Gold Exchange Traded Fund) एक ऐसा फाइनेंशियल उपकरण है, जो आपको फिजिकल सोने में इन्वेस्ट किए बिना उसकी रिटर्न का फायदा उठाने का मौका देता है। यह ETF एक म्यूचुअल फंड की तरह ही होता है जो स्टॉक एक्सचेंज पर ट्रेड होता है, जैसे वहां पर आम शेयर ट्रेड होते है। इसमें आपके पैसे को फिजिकल सोने और उसके फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट जैसे उपकरण में इन्वेस्ट किया जाता है। इसके बदले आपको ETF के यूनिट मिलते हैं जो आप अपने डिमैट अकाउंट में स्टोर होते हैं।

यह एक तरह से डिजिटल गोल्ड में इन्वेस्ट करने की तरह ही है, जहां पर आप बहुत कम पैसों में सोने के यूनिट्स में इन्वेस्ट कर पाते है और उससे मिलने वाली रिटर्न का लाभ ले पाते है।

गोल्ड ETF कैसे काम करता है – Gold ETF kaise kaam karta hai

गोल्ड ETF का मुख्य कॉन्सेप्ट सरल है। गोल्ड ETF एक म्यूचुअल फंड हाउस द्वारा ही चलाए जा रहे फंड होते है जो स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड होते है, और अपनी वैल्यू को फिजिकल गोल्ड या गोल्ड के फ्यूचर कॉन्ट्रैक्ट से ड्राइव करते है। गोल्ड ETF असल सोने द्वारा बैक्ड होते है जिन्हे फंड हाउस द्वारा होल्ड किया जाता है। जब भी आपको गोल्ड ETF में इन्वेस्ट करना हो, आप अपने ट्रेडिंग अकाउंट के जरिए स्टॉक एक्सचेंज से उसे खरीद सकते है। इसके बदले सोने के डिजिटल यूनिट आपके डिमैट अकाउंट में ट्रांसफर कर दिए जाते है।

इसी तरह जब अपको अपने यूनिट्स को बेचना हो, आप स्टॉक एक्सचेंज पर आसानी से उन्हें बेच सकते हैं, और क्युकी गोल्ड ETF का प्राइस असल सोने के प्राइस अनुसार ही घटता और बढ़ता है, आपको मिलने वाला प्राइस, उस समय के सोने के प्राइस अनुसार घटाकर या बढ़ाकर हो सकता है। जहां आपको फिजिकल सोने को कहीं पर स्टोर करने की जरूरत होती है, वहीं गोल्ड ETF को स्टोर करने की ज़रूरत नहीं पड़ती, जो कि एक बहुत बड़ा लाभ है।

ETF में एक ग्राम सोना कैसे खरीदे – ETF main ek gram sona kaise kharide

स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड गोल्ड ETF का हर एक यूनिट 1 ग्राम सोने को रिप्रेजेंट करता है। यानी की अगर आप एक ग्राम सोने में इन्वेस्ट करना चाहते है, तो आप गोल्ड ETF का एक यूनिट खरीद सकते है, जिसका मूल्य असल सोने से ही निर्धारित होता है, लेकिन असल सोने के मुकाबले बहुत कम होता है।

गोल्ड ETF में कैसे इन्वेस्ट करें – Gold ETF me kaise invest karen

गोल्ड ETF में आप किसी भी आम स्टॉक की तरह इन्वेस्ट कर सकते है। इसे खरीदने के लिए आपके पास एक डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट होना जरूरी है। यह दोनो अकाउंट होने पर आप अपने ब्रोकर के माध्यम से स्टॉक एक्सचेंज पर गोल्ड ETF यूनिट को खरीद और बेच सकते है। लगभग हर फंड हाउस ने अपने गोल्ड ईटीएफ को लॉन्च कर रखा है, जैसे कि SBI गोल्ड ETF, HDFC गोल्ड ETF, आदि।

भारत में सबसे पुराने गोल्ड ETF को GoldBees के नाम से जाना जाता है, जिसे Nippon AMC द्वारा मैनेज किया जाता है। किसी भी आम स्टॉक की तरह गोल्ड ETF आपके डीमैट अकाउंट में स्टोर होते है, जिन्हे जरूरत पड़ने पर आप कभी भी बेच सकते है।

अगर आप भी गोल्ड ETF इन्वेस्ट करना चाहते है, लेकिन आपके पास डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट नही है तो उसे आप इस Link पर जा कर खुलवा सकते है।

गोल्ड ETF के फायदे – Gold ETF ke fayde

लिक्विडिटी: गोल्ड ETF की सबसे बड़ी खासियत यह है कि यह अत्यधिक लिक्विड होता है। मतलब आप कभी भी अपने ETF के यूनिट्स को स्टॉक एक्सचेंज पर खरीद और बेच सकते हैं। इससे आपको फिजिकल सोने की तरह खरीदार ढूंढने की ज़रूरत नहीं पड़ती। अगर आपको तुरंत पैसे की जरूरत है, तो आप आसानी से अपने गोल्ड ETF यूनिट्स को बेच सकते हैं और नकद ले सकते हैं।

सुरक्षा और शुद्धता: गोल्ड ETF में निवेश करने से आपको फिजिकल सोने की शुद्धता या सुरक्षा की चिंता नहीं होती। ETF सोने को, स्टैंडर्ड 24 कैरेट की शुद्धता के साथ होल्ड करता है और इन्हे सुरक्षित वॉल्ट्स में रखा जाता है। इस तरह आपको अपने घर पर सोने को स्टोर करने की जरूरत नहीं पड़ती, जिसमे चोरी या नुकसान होने का रिस्क होता है।

कम लागत: गोल्ड ETF में निवेश करना फिजिकल सोने से सस्ता पड़ता है। इसमें स्टोरेज कॉस्ट, इंश्योरेंस, और मेकिंग चार्जेज नहीं लगते। सिर्फ नाममात्र ब्रोकरेज और फंड मैनेजमेंट चार्जेज लगते हैं। अगर आप फिजिकल सोना खरीदते हैं, तो आपको उसके मेकिंग चार्जेज देने पड़ते हैं और अगर आप उसे स्टोर करते हैं तो उसका इंश्योरेंस और स्टोरेज कॉस्ट भी आता है। गोल्ड ETF इन सभी समस्याओं का समाधान करता है।

पारदर्शिता: गोल्ड ETF की प्राइसिंग पारदर्शी होती है क्योंकि यह स्टॉक एक्सचेंज पर ट्रेड होता है। आपको हर वक्त बाजार मूल्य का अपडेट मिलता रहता है और आप आसानी से अपनी इन्वेस्टमेंट के मूल्य को ट्रैक कर सकते हैं। इस पारदर्शिता से आपको पता रहता है कि आपकी इन्वेस्टमेंट की क्या वैल्यू है और आप जब चाहें उसे बेच सकते हैं।

कोई लॉक-इन पीरियड नही: गोल्ड ETF का कोई लॉक-इन पीरियड नहीं होता, मतलब आप कभी भी अपने निवेश को नकद में बदल सकते हैं।

गोल्ड ETF से जुड़े रिस्क – Gold ETF se jude risk

मार्किट रिस्क: गोल्ड ETF की वैल्यू फिजिकल गोल्ड की मार्केट वैल्यू पर निर्भर करती है। अगर मार्केट में सोने का प्राइस कम होता है, तो आपके गोल्ड ETF के यूनिट का प्राइस भी कम हो सकता है।

लिक्विडिटी रिस्क: हालांकि गोल्ड ETF एक लिक्विड इन्वेस्टमेंट ऑप्शन है, लेकिन फिर भी अगर आप एक बहुत बड़ी मात्रा में इसे खरीद और बेच रहे है, तो मुमकिन है आपका ऑर्डर एक बार में पूरा ना हो पाए।

यह भी जाने: Sovereign gold bond in hindi – सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड क्या है और कैसे खरीदें

निष्कर्ष – Conclusion

सोने में इन्वेस्टमेंट करने के लिए गोल्ड ETF एक सुरक्षित और आसान तरीका है। इसके जरिए आप सिर्फ कुछ सौ रुपयों से भी सोने में इन्वेस्ट कर पाते है, जिससे वह लोग जिनके पास फिजिकल गोल्ड में इन्वेस्ट करने के लिए पर्याप्त फंड नहीं भी है, वह भी इसकी रिटर्न का लाभ ले पाते है। इसमें फिजिकल गोल्ड के सारे फायदे मिलते है, और आपको इसकी स्टोरेज की चिंता भी नही करनी पड़ती। यह अपको अपना पोर्टफोलियो डाइवर्सिफाई करने में मदद करता है, और फिजिकल गोल्ड की तुलना में आप कभी भी अपनी इन्वेस्टमेंट को नकदी में तब्दील कर सकते है। इसके यही सब गुण इसे इन्वेस्टमेंट के लिए एक अच्छा साधन बनाते है।

Liked our Content? Spread a word!

Leave a Comment